Love poems

Love poems for her
Love poems

गुलाब के फूलों जैसी है तुम्हारी हंसी खुदा कसम बस तुम ही हो मेरी जिंदगी।


Gulab ke Phoolon Jaisi Hai Tumhari Hasi! Khuda Kasam Bas Tum Hi Ho Meri Zindagi।


खिलते हैं जब फूल मुझे तुम्हारी याद आती है। होती है जब शाम फिजाओं में तेरी खुशबू महकती है। अब तो ऐ मेरे यार तेरे बिना रातों को मुझे नींद भी नहीं आती है।


Khilte Hain Jab Phool Mujhe Tumhari Yaad Aati Hai! Hoti Hai Jab Shaam fizaon Mein Teri Khushboo mehakti Hai! Ab To ai Mere Yaar Tere Bina Raaton Ko mujhe neend bhi nahi aati hai!


देखा था तुझे बिखड़ी थी तब जुल्फें लग रही थी तू कोई अप्सरा मिली थी नजर जब तेरी मुझसे।


Dekha Tha Tujhe bikhri Thi tab Zulfein! lag rahi thi tu Koi Apsara Mili Thi Nazar jab teri Mujhse।


तेरी चंचल शोख अदाओं पर दिल मेरा फ़िदा हो गया। सच कहता हूं मैं सनम मुझे तुमसे इश्क हो गया।


Teri Chanchal Shokh adaon Par dil mera Fida Ho Gaya! Sach Kehta Hoon Mein Sanam Mujhe Tumse Ishq Ho Gaya।


जिधर जिधर मैं देखूं बस उसका ही चेहरा नजर आए। आंखें बंद करूं तो तस्वीर बन कर वे मेरे दिल में उतर जाए।। ना जाने कौन है वे हसीन जो मुझे हर वक्त नजर आए।


Jidhar Jidhar Dekhoon bus Uska Hi Chehra Nazar Aaye! Aankhen band Karu To Tasveer Bankar ve Mere Dil Mein Utar Jaye!! Na Jane Kaun Hai Woh Haseen Jo Mujhe Har Waqt Nazar Aaye।


खूबसूरत है ये जहां खूबसूरत है ये वादियां। फैली है आज हवाओं में भी मदहोशियां।। ये सोचकर तड़पता है मेरा दिल की काश आप आज होती यहां।


Khoobsurat Hai Yeh Jahan Khoobsurat Hai Yeh wadiyan! Phaili Hai Aaja Hawaon Mein Bhi madhoshiyan!! Ye Soch kar tadapta hai mera dil ki Kash Aap Aaj hoti Yahan!


पता नहीं, मुझे मेरा प्यार मिलेगा या नहीं। उम्मीद पर बस मैं हूं टीका।। ऐ काश खुदा सुन ले दुआ मेरी।

Pata nahi mujhe Mera Pyar Milega ya nahi! Umeed par bas mein hoon Tikka!! ai Kash khuda Sun Le Dooba Meri।


हमें तो गुलाब पसंद है चमेली नहीं, हमें तो आप पसंद हैं आपकी सहेली नहीं।


Hame To Gulab pasand hai Chameli nahi! Hame To aap pasand hain aapki Saheli nahi।


तू जो मुझे ना मिली मैं उम्र यूं ही गुजार दूंगा। तेरा ही नाम लेकर जिऊंगा तेरा ही नाम लेकर मर जाऊंगाँ।


Tu Jo Mujhe Na Mili Mein Umr Yuhin Guzar Dunga! Tera Hi Naam Lekar jiyunga Tera Hi Naam Lekar mar jaunga।


क्या पता मेरी तमन्ना पूरी होगी या नहीं।। मिलेगी तू मुझे या तेरी याद में तड़पता रहूंगा यूं ही।


Kya pata Meri Tamanna Puri Hogi ya nahi! milegi to Mujhe Yaa Teri Yaad Mein tadapta rahunga yuhin।







Comments