New Year 2019 Best Wishes Poetry For Friends and Family In Hindi

कहिए दिल की बात अपनो को नव वर्ष में शायरी के साथ

1. 2019 New Year Best wishes
Poetry in Hindi,,,

2. New Year 2019 Best wishes 
Poetry For Friends and Family In Hindi,,

3. New Year 2019 Best wishes 
Poetry In Hindi For Girlfriends 
Boyfriends friends and Family Members,,

4. 2019 Best wishes Poetry In Hindi For Girlfriends Boyfriends Friends and 
Family Members wishes Shayari In
Hindi and Urdu,,


New year 2019 best wishes poetry in hindi for girlfriends boyfriends friends and family members

हम तो दिवाने हैं। दुनिया से बेगाने हैं,

हम तो दिवाने हैं। दुनिया से बेगाने हैं, करते नहीं है छुपकर वार। इसलिए सामने आकर कहते हैं आपको मुबारक हो नया साल हमारी तरफ से इस बार।

Click here for Read more New Year shayari

Hum To Deewane Hain। Duniya Se Begane Hain। Kartein Nahi Hain Chhup Kar War। Isliye Samne Aakar Kehtein hain aap ko Mubarak ho Naya Saal Hamari Taraf Se Is Baar।

दुश्मनों से दुश्मनी। दोस्तों से करते हैं

दुश्मनों से दुश्मनी। दोस्तों से करते हैं जान से भी ज्यादा प्यार। हम दोस्तों की दोस्ती हमेशा यूं ही रहे बरकरार। नव वर्ष में हम सब दोस्तों की रब से बस इतनी सी है फरियाद।

Dushmano se Dushmani। Dosto Se Karte Hain Jaan Se Bhi Jyada Pyar। Hum Doston ki dosti Hamesha Yuhi Rahe Barkarar। Nav varsh Mein Hum Sab Doston Ki Rab Se Bas Itni Si Hai Fariyad।

चिड़ियों की तरह चाहचहाती रहें।

चिड़ियों की तरह चाहचहाती रहें। फूलों की तरह मुस्कुराती रहें। नव वर्ष में रब से बस इतनी सी गुजारिश है। आप हमेशा यूं ही तारों की तरह जग में जगमगाती रहें।

Chidiyon Ki Tarah chahchahati Rahein। Phoolon Ki Tarah muskurati Rahein। Nav varsh Mein Rab se Bas Itni Si Guzarish hai aap Hamesha Yuhi Taro Ki Tarah Jag Mein jagmagati rahein hai

आपकी झोली हमेशा खुशियों से भरी रहे।

आपकी झोली हमेशा खुशियों से भरी रहे। गम हमेशा आपसे कोसों दूर रहे। है इल्तिजा रब से बस इतनी, आप हमेशा फूलों की तरह मुस्कुराती रहें।

Aap ki jholi Hamesha khushiyan Se Bhari Rahe। Gam Hamesha Aap Se Koson Dur Rahe। Hai Iltiza Rab se Bas Itni, aap Hamesha Phoolon Ki Tarah muskurati Rahein

दिल में कितने अरमान छुपाए बैठा हूं।

दिल में कितने अरमान छुपाए बैठा हूं। नए साल के इंतजार में पलकें बिछाए बैठा हूं। नए साल में होगी मुलाकात आपसे खोल दूं अपने दिल के सारे राज और कह दूं दिल की बात आपसे।

Dil Mein Kitne Armaan Chupaye Baitha Hoon। Naye Saal Ke Intezar Mein Palkein bichhaye Baitha Hoon। Naye saal Mein Hogi Mulakat aapse Khol doon Apne Dil ke Sare Raj Aur kah Doon Dil Ki Baat Aapse



Comments