Best Sad Shayari Darde Dil

Hindi sad shayari, sad shayari for girlfriend
Best sad shayari

दिल की बेचैनी को दिल में दबाए बैठे हैं। मैं क्या करूं मेरे हालात कुछ ऐसे हैं। मेरे जज्बातों को ठेस अपनों ने ही पहुंचाया है। अब शिकायत भी किससे करूं जब अपने ही दर्द देते हैं


Dil Ki Bechaini Ko Dil Mein Dabaye baithe Hain। Main Kya Karoon Mere Halat Kuch Aise Hain। Mere Jajbato Ko Thes Apno Ne Hi Pahuchaya Hai। Ab Shikayat Bhi Kisse Karun Jab Apne Hi Dard Dete Hain...


समझते हैं तेरी हर एक चाल को। लेकिन मजबूर हूं देख कर अपने इस हाल को। वक्त आने वाला है। बस थोड़ा सा करले सब्र फिर देख लेंगे तुझे और तेरी औकात को।

Samajhte Hain Teri Har Ek Chaal Ko। Lekin Majboor Hoon Dekh Kar Apne Es Haal Ko। Waqt Aane wala Hai Bas thoda Sa Kar Le Sabr Phir dekh Lenge Tujhe Aur Teri aukaat ko।


मासूम चेहरों में हैवान छुपा है। इंसान को यहां कैसे पहचाने यहां तो हर चेहरे में शैतान छुपा है। हर चाल में दगाबाजी और मक्कारी का जाल बिछा है। बच कर रहना ऐसे दगाबाजो से चेहरे पर मासूमियत होठों पर मीठी बोली लेकिन इनकी दिलों में दौलत का अंधा शैतान छुपा है


Masoom Chehron Mein Haiwan Chhupa Hai। Insaan ko Yahan Kaise Pehchane Yahan To Har Chehre Mein Shaitan Chhupa Hai। Har Chal Me Dagabaji Aur Makkadi Ka Jaal Bichha Hai| Bach Kar Rahna Aise Dagabaazo Se Chehre Par Masumiyat Hoto Par Mithi Boli Lekin Enke Dilon Me Daulat Ka Andha Shaitan Chhupa Hai


दर्द गैरों से मिला होता तो और बात थी। यहां तो अपने हि दर्द देते हैं। दिल का हाल कहे भी किससे जिसे अपना समझते हैं। वही धोखा देते हैं।


Dard Gairo Se Mila Hota To Aur Baati Thi| Yahan To Apne Hi Dard Dete Hain| Dil Ka Haal Kahen Bhi kis Se Jise Apna samajhte Hain Wahi Dhoka Dete Hain


गरीबी मानो एक श्राप है। जिंदगी किसी तरह जी रहा हूं बस यही एहसास है। ना इस जिंदगी में कोई खुशी ना कोई रंग ना कोई उल्लास है। यहां तो अपनों की ही नजर में मैं खटक रहा हूं मुझे यह एहसास है। ए खुदा मेरे साथ बुरा करे उसके साथ भी बुरा हो बस इतनी सी फरियाद है।


Garibi Mano Ek Sarap Hai| Zindagi Kisi Tarah Jee Raha Hoon Bas Yahi Ehsaas Hai| Na Es Zindagi Mein Koi Khushi Na Koi Rang Na Koi Ullas Hai| Yahan to Apno Ki Hi Nazron Me mein Khatak Raha Hoon| Mujhe Yeh Ehsaas Hai| Ai KHuda Mere Sath Bura Kare Uske sath Bhi Bura Ho Bas Itni Si Fariyad hai


अपनों के बीच रहकर भी बेगाने हम यहां हैं। मेरा कसूर बस इतना है की तकदीर के सताए हम यहां हैं। हालात के आगे मजबूर मैं यहां हूं। गरीब हूं इसलिए अपनों के बीच रहकर भी अपनों से दूर मैं यहां हूं।


Apno Ke Beech RahKar Bhi Bgaane Hum Yahan Hain| Mera Kasoor Bas Itna Hai ki Taqdeer ke Sataye Hum Yahan Hain| Halat Ke Aage Majboor Main Yahan Hoon| Gareeb Hoon isliye Apno ke Beech Rah Kar Bhi Apno Se Dur Main Yahan Hoon


किस्मत को शायद मंजूर न थी हमारी तुम्हारी दोस्ती। जो अगर मंजूर होती तू मेरे पास होती है। शिकायत भी तुझसे क्या करें ऐ तकदीर। शिकायत तो इस जिंदगी से है कि अब मुझे मौत भी नहीं आती।


Kismat Ko Shayad Manjur Na Thi Hamari Tumhari Dosti| Jo Agar Manzoor Hoti Tu Hamare Paas Hoti| Shikayat Bhi Tujhse Kya Karen Aye Takdeer| Shikayat To Is Zindagi Se Hai Ki Ab Mujhe Maut Bhi Nhi Aati


मर मर कर मैं यहां जी रहा हूं। यह जिंदगी भी कोई जिंदगी है। जिंदा लाश मैं यहां हूं। ना इन आंखों में कोई ख्वाब ना दिल में कोई अरमान ऐसी जिंदगी मैं जी रहा हूं


Mar Mar Kar Main Yahan Jee Raha Hoon| Yah Zindagi Bhi Koi Zindagi Hai| Zinda Lash Main Yahan Hoon| Na En Aankhon Me Koi Khawab Na Dil Me Koi Arman Aisi Zindagi Main jee Raha Hoon

Comments