Army Status Pulwama attack Sad shayari

दोस्तों जम्मू कश्मीर (पुलवामा) में हुए आतंकी हमले में हमारे मिलिट्री के शहीद हुए जवानों को भावपूर्ण श्रद्धांजलि देने के लिए मैं अपने दिल की बातों को शब्दों में पिरो कर आपके समक्ष लाया हूं| आप हमारी इस रचना Army Status Pulwama attack Sad shayari को जो मैंने शायरी के माध्यम से की है अपने दोस्तों में और लोगों तक पहुंचाने में हमारी मदद करें और हमारे इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें....

Pulwama attack, military attack sad shayari,pulwama sad shayari
Army status pulwama attack sad shayari


धोखे से किया है वार तूने| हिम्मत नहीं है सामने आने की| आखीर दिखा दी अपनी औकात तूने...

Dhoke Se Kiya Hai Waar Tune| Himmat Nahi Hai Samne Aane Ki| Aakhir Dikha Di Apni Aukat Tune||

खुश तो बहुत होगा अपने नापाक मंसूबों को अंजाम देकर|| इंतकाम तो होगा अब लेंगे मासूम बेगुनाहों जवानों के खून का बदला| अब इस पार या उस पार हो कर ||

Khush To Bahut Hoga Apne Napak Mansubo Ko Anjaam Dekar|| Inteqaam
To Hoga Ab|Lenge Masoom Begunahon Jawanon Ke Khoon Ka Badla Ab Is Paar Yah Us Par Hokar|

Pulwama attack, military attack sad shayari,pulwama sad shayari
Army status pulwama attack sad shayari


आंखों में आंसुओं के सैलाब आए हैं| शहीदों के खून वतन के काम आए हैं| तिरंगे से मोहब्बत इस कदर थी उन वीर जवानों को| जान लुटा कर अपनी देश के काम आए हैं||

Aankhon Mein Aansuon Ke Sailab Aaye Hain| Shahido ke Khun watan ke kaam Aaye Hain| Tirange Se Mohabbat Is Qadar Thi Un Veer Jawano Ko| Jaan Luta Kar Apni Desh ke kaam Aaye Hai||

ना हिंदू है, ना मुसलमान बेगुनाहों वीर जवानों का खून बहाकर खुश है जो, वह है शैतान|

Na Hindu Hai Na Musalman Begunahon Veer Jawanon Ka Khoon Bahakar Khush Hai Jo Wah Hai saitan

जो तू है सच्चा मुसलमान | क्या तेरे सीने में है बाकी ईमान| सुन ले ऐ दहशतगर्द जो दे ऐसे गुनाहों को अंजाम बेगुनाहों के खून से जो खेले| हो नहीं सकता है वह सच्चा मुसलमान| क्योंकि इस्लाम नहीं सिखाता लेना बेगुनाहों की जान||

Jo Tu Hai Sachcha Musalman| Kya Tere Seene Mein Hai Baki Iman| Sun Le Aye Dahshatgard Jo De Aise Gunaho Ko Anjaam Begunaho Ke Khoon Se Jo
Khele Ho Nahi Sakta Hai Wah Sachcha Musalman| Kyunki Islam nahi sikhata Lena Begunaho Ki Jaan||

देश के खातिर लुटा दे जो अपनी जान| हम चैन से सोते रहे अपने घरों में| इसलिए बॉर्डर पर जगते हैं रात भर जवान|| ऐसे सिपाहियों को दिल से है मेरा सलाम||

Desh Ke Khatir Luta De Jo Apni Jaan| Hum Chain Se Sote Rahen apne gharon mein isliye Border Par jagtein Hain raat Bhar Jawan| Aise sipahiyo Ko Dil Se Hai Mera Salam||

कुछ कर गुजरने की तमन्ना मेरे दिल में भी है| वतन से मोहब्बत मेरे दिल में भी है| तेरे नापाक मंसूबों में तुझे कामयाब कभी ना होने देंगे|| हम अपनी आखिरी सांस भी वतन के नाम लिख देंगे||

Kuch Kar Guzarne Ki Tamanna Mere Dil Mein Bhi Hai| Watan Se Mohabbat Mere Dil Mein Bhi Hai| Tere Napak Mansubo Main Tujhe Kamyab Kabhi Na Hone Denge|| Hum Apni Aakhri Saans Bhi Watan Ke Naam Likh Denge||

फिर से दिलों में नफरतों का जहर घोलने का कोई काम करेगा| अब तो हर कोई एक दूजे को बदनाम करेगा|किसी को शहीदों के परिवारों से कोई मतलब नहीं होगा|अब हर कोई देशभक्ति के नारे लगाएगा| कुछ दिनों के बाद शहीदों की शहादत और उनके परिवारों का हाल भी कहां कोई पूछने जाएगा| फिर से दिलों में नफरत हो का जहर घोलने का कोई काम करेगा अब तो हर कोई एक दूजे को बदनाम करेगा...

Phir Se Dilon Mein Nafrato Ka Zahar Gholne Ka Koi Kam Karega| Ab Toh Har Koi Ek Duje Ko Badnam Karega| Kisi Ko Shahidon Ke Pariwaron Se Koi Matlab Nhi Hoga| Ab Har Koi Desh Bhakti Ke Nare Lagayega| Kuchh Dinon Bad Shahidon Ki Shahadat Aur Unke Pariwaron Ka Haal Bhi Kahan Koi Puchne Jayega| Phir Se Dilon Me Nafraton Ka Zahar Gholne Ka Koi Kaam Karega|Ab To Har Koi Ek Duje ko Badnam Karega||

वो दिन था 14 फरवरी का जब हम और तुम मशरूफ थे वैलेंटाइन डे मनाने मे| वहीं सियासत भी सोता रहा राजनीति की गलियारे में|| देश की खातिर लुटा दी जवानों ने जान अपनी| ताकि हम सोते रहे चैन से अपने घरों में||

Woh Din Tha 14 February Ka Jab Hum Aur Tum Masroof The Valentine Day Manane Mein| wahi Siyasat Bhi sota Raha Rajneeti Ki Galiyon Mein| Desh Ke Khatir Luta Di Jawano Ne Jaan Apni| Taki Hum Aur Tum Sote Rahen Chain Se Apne Gharon Mein

Comments