Makka Sharif Urdu Hindi Shayari

Makka sharif urdu hindi shayari,
Makka Sharif Urdu Hindi Shayari

पर जाए जिस पर नजर मेरे कमली वाले की | खुल जाती है जंग परी तकदीर भी किसमत की | कब से इस दिल मे है ख्वाहिश सरकार की गलियों में जाने की | कब से दिल में हसरत ए आरजू लिए बैठा हूं मैं, ऐ खुदा मुझे भी जारत करवा दे अब मदीने की..।

Par Jaaye Jis Par Nazar Mere Kamli Wale Ki | Khul Jati Hai Jang Pari Takdir Bhi Kismat Ki | Kab Se Is Dil Mein Hai Khawahish Sarkar Ki Galiyon Mein Jaane Ki | Kab Se Es Dil Mein Hasratein Arzoo Liye Baitha Hoon Main | Aye Khuda Mujhe Bhi Jarat karwa De Ab Madina Ki..।

इन आंखों में बसी है शहरे मदीने की चाहत | ना जाने कब होगी सरकार की गलियों की जारत | मेरे इस दिल में बसी है सिर्फ मदीने की चाहत..।

In Aankhon Mein Basi Hai Shahre Madine Ki Chahat | Na Jane Kab Hogi Sarkar Ki Galiyon ki Zarat | Mere Is Dil Mein Basi Hai sirf Madina Ki Chahat..।

मेरे सरकार करम ए निगाहें इधर भी कीजिए | कब से तड़प रहा हूं मैं मदीने की चाहत में, मुझे भी मदीने बुला लीजिए..।

Mere Sarkar Karam-e Nigahen Idhar Bhi Kijiye | Kab Se Tadap Raha Hoon Main Madine Ki Chahat Mein, Mujhe Bhi Madine Bula Lijiye..

मेरे यारों दिल से इस्लाम की चाहत को जुदा ना करना रसूले पाक के बताए रास्ते पर चलना | मुश्किलें हजार पेश आएं पर उना मुश्किलों से तुम न डरना | सदा ईमानदारी और सच्चाई के रास्ते पर चलना | ये जिंदगी है रसूले पाक की उम्मत के लिए कैदखाना | क्योंकि इस दुनिया में बेशुमार बुराइयां हैं | इन बुराइयों से अपने दामन को बचाए रखना। मेरे यारों दिल से इस्लाम की चाहत को जुदा ना करना | रसूले पाक के बताए रास्ते पर चलना..।

Mere Yaaron Dil Se Islam Ki Chahat Ko Juda Na Karna | Rasule Pak Ke Bataye Raste Par Chalna | Mushkilen Hazar Pesh Aayen Par Un Mushkilon Se Tum Na Darna | Sada imandari Aur sachchai Ke Raste Par Chalna | Ye Zindagi Hai Rasool e Pak Ki Ummat ke Liye kaid Khana Kyon Ki Is Duniya Mein beshumar Buraiyan Hain | In Buraiyan Se Apne Daman Ko Bachaye Rakhna..।

मौला तुझ पर यकीन है | करम है मुझ पर तेरा | हर तूफानों से टकरा जाता हूं | मालूम है मुझे, मुझ पर करम है तेरा..।

Maula Tujh par Yakeen Hai | Karam Hai Mujh Par Tera | Har Toofanon Se Takra Jata Hoon | Maloom Hai Mujhe, Mujh Par Karam Hai Tera..।

Comments